Category: बीती ताही विसरत नाही

गूगल मैप की नजर में राज बल्लभ उच्च विद्यालय, सांडी-चितरपुर, जिला-हजारीबाग़, झारखंड

झाड़ू लेकर सफाई करना सांस लेने जितना ही रूटीन काम

एक वक्त था जब हाथों में झाड़ू लेकर सफाई करना हमारे लिए सांस लेने जितना ही रूटीन काम था. मैं जिस सरकारी स्कूल में पढ़ता था वहां क्लास से लेकर...

suman-sarin

यादों के घरौंदे में एक सोनचिरैया

लंबी बीमारी ने पत्रकार, गीतकार, कवियत्री और लेखिका सुमन सरीन के शरीर को जर्जर तो पहले ही कर दिया था शायद उस दिन मन ने भी हथियार डाल दिया होगा।...

suman-sarin

सोचा न था यूं होगी हमारी दूसरी मुलाकात

अभी कुछ महीने ही हुये थे मुझे और रघुनाथ को नवभारत टाइम्स ज्वाइन किये हुए. संपादक महोदय की शानदार 38 साल की पारी के बाद उनका विदाई समारोह था. वहीं...